Accident on KMP Expressway: बहादुरगढ़ में सो रहे मजदूरों पर चढ़ा ट्रक, तीन की मौके पर ही मौत, 10 से ज्यादा घायल

हरियाणा के बहादुरगढ़ शहर में कुंडली-मानेसर-पलवल (KMP) एक्सप्रेस-वे पर गुरुवार सुबह एक ट्रक ने 18 मजदूरों को कुचल दिया। हादसे में 3 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 11 गंभीर रूप से घायल हो गए। इनमें 5 लोगों को बहादुरगढ़ ट्रॉमा सेंटर तो 10 लोगों को रोहतक पीजीआई में भर्ती कराया गया है। हादसे के बाद ट्रक भी पलट गया। मृतकों की पहचान उत्तर प्रदेश के जिला कानपुर देहात के थाना रसुलाबाद के गांव रेवरी इटली निवासी सुशील, कांति स्वरूप व मोनू के रूप में हुई है।

जानकारी के अनुसार, KMP पर आसौदा टोल के आसपास सड़क रिपेयरिंग का काम चल रहा है। देर रात तक मरम्मत का कार्य करने के बाद थक कर सभी 18 मजदूर सड़क किनारे अवरोधक लगाकर सो गए। सुबह एक तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें कुचल दिया। उसके बाद ट्रक मौके पर ही पलट गया।

हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। हादसे में जान गंवाने वाले तीनों लोगों के शव को पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल भिजवाया गया है। घायलों में से 10 को उपचार के लिए रोहतक पीजीआई भेजा गया है, जबकि 5 घायलों का इलाज बहादुरगढ़ के ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है। फिलहाल, पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है।

सूचना के बाद SP वसीम अकरम व ASP अमित यशवर्धन भी मौके पर पहुंचे। ASP ने बताया कि घटना सुबह करीब साढ़े 5 से 6 बजे की बीच की है। तेज रफ्तार ट्रक ने सड़क पर सो रहे मजदूरों को कुचल दिया। हादसे के वक्त कुछ मजदूर जगे हुए थे जिन्होंने घटना की पूरी जानकारी भी दी है।

उत्तर प्रदेश के रहने वाले है सभी मजदूर

हादसे में घायल अनीस और रजनीश ने बताया कि हादसे के शिकार सभी मजदूर केएमपी पर बने पुलों की रिपेयर का काम करते थे। देर शाम तक काम करने के बाद मजदूर थक पर सड़क किनारे सो गए थे। सोने से पहले सड़क के एक साईड की बैरिकेडिंग भी कर दी थी। रिफलेक्टर भी लगाए गए थे। सुरक्षा के लिए पानी का टैंकर और जेनसैट भी खड़ा किया था, लेकिन तेज रफ्तार, गफलत और लापरवाही से ट्रक चलाते हुए आए एक शख्स ने सो रहे मजदूरों को कुचल दिया। हादसे के शिकार हुए मजदूर उत्तरप्रदेश के कानुपर के रहने वाले हैं और दो महीने से केएमपी पर काम कर रहे थे।

Next Post

गुरुग्राम: आईसीएआई सदस्यों ने सीजीएसटी ऑफिस में लगाया ताला, दो सीए की गिरफ्तारी से थे आक्रोशित

Fri May 20 , 2022
गिरफ्तारी को पूरी तरह गलत बताते हुए आईसीएआई सदस्यों ने कहा कि रीफंड अधिकारियों की मिलीभगत से जारी किया गया था। प्रदर्शनकारियों ने दावा किया कि सीए को दंडित करने के बजाय लाभकारी पार्टी- एक ट्रेडर और संबंधित जीएसटी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। केंद्रीय वस्तु एवं सेवा […]