एक जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक होगा पूरी तरह बैन:

डीसी अशोक कुमार गर्ग ने कहा कि आजादी अमृत महोत्सव की श्रृंखला में आगामी एक जुलाई से जिला में सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल, भंडारण व बिक्री पर पूर्ण रूप से रोक लगा दी जाएगी, जिससे जिला को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति मिलेगी। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने प्रभावी एक्शन प्लान के जरिये एक जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक (एसयूपी) से संबंधित वस्तुओं पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी की है। उन्होंने बताया कि सरकार एवं एनजीटी द्वारा प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट नियम, 2016 को प्रभावी ढंग से लागू करने को कहा गया है। इन आदेशों की अवहेलना को दोषी पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति अथवा संस्थान के खिलाफ नियमानुसार कड़ी कार्रवाई का भी प्रावधान है। सरकार एवं एनजीटी द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार प्लास्टिक की मोटाई 120 माइक्रोन से कम नहीं होनी चाहिए। इससे कम मोटाई वाली प्लास्टिक की चीजों पर प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने जिला में प्लास्टिक वेस्ट रूल्स की सख्ती से पालना सुनिश्चित करने के निर्देश निर्देश।

पॉलीथिन पर रोक आने वाली पीढ़ी के लिए भी जरूरी : डीसी

डीसी ने कहा कि प्लास्टिक बढ़ते प्रदूषण को सबसे बड़ा कारण है। प्लास्टिक हमारे वातावरण को कई तरीकों से नुकसान पहुंचाता है। वायु प्रदूषण के साथ साथ प्लास्टिक से जल व भूमि प्रदूषण भी बड़े पैमाने पर होता है। प्लास्टिक के कारण भूजल रिचार्ज भी नहीं हो पाता है और प्लास्टिक कई सालों तक नष्ट भी नहीं होता, जिसके कारण सालों तक वातावरण को इसका नुकसान उठाना पड़ता है। हम सभी को ये बात समझनी होगी कि प्लास्टिक ना केवल वातावरण के लिए बल्कि मनुष्य जीवन के लिए भी खतरनाक है। ऐसे में हम सभी को मिलकर पर्यावरण संरक्षण में अपनी भागीदारी निभानी है। उन्होंने कहा कि पॉलीथिन पर रोक न केवल हमारे लिए बल्कि आने वाली पीढ़ी के लिए भी बहुत जरूरी है। प्लास्टिक के दुष्प्रभाव को लेकर जन जागरण अभियान भी चलाया जा रहा है।

जिलावासी सिंगल यूज प्लास्टिक को कहें ना : अशोक गर्ग

डीसी ने कहा कि निर्धारित तिथि से पहले जिला में पर्यावरण को सिंगल यूज प्लास्टिक से पहुंचने वाले नुकसान के प्रति जनमानस में चेतना जागृत करने व बाजार में व्यापारियों व खुदरा विक्रेताओं को पॉलीथिन के विकल्प अपनाने से जुड़ी गतिविधियां भी आरंभ की जा रही हैं। सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक के लिए स्कूल व महाविद्यालयों में निबंध लेखन, पेंटिंग आदि जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जाए। उन्होंने जिला के नागरिकों से सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने का आह्वान किया है

Next Post

94 साल के एक बूढ़े व्यक्ति को मकान मालिक ने किराया न देने से निकाला घर से बाहर:

Thu Jun 23 , 2022
94 साल के एक बूढ़े व्यक्ति को मकान मालिक ने किराया न दे पाने पर किराए के मकान से निकाल दिया। बूढ़े के पास एक पुराना बिस्तर, कुछ एल्युमीनियम के बर्तन, एक प्लास्टिक की बाल्टी और एक मग आदि के अलावा शायद ही कोई सामान था। बूढ़े ने मालिक से […]