अंधेरे में डूबे पाकिस्तान, लाहौर, कराची मोबाइल टावर भी बंद पावर ग्रिड फेल

बिजली न होने की वजह से मोबाइल टावर भी बंद हो गए थे. इसकी वजह से लोगों को एक दूसरे से फोन पर बात करने में परेशानी का सामना करना पड़ा.

Blackout in Pakistan: आर्थिक रूप से कमजोर हो चुके पाकिस्तान में बिजली की समस्या ने लोगों की परेशानी को बढ़ा दिया है. पाकिस्तान के कई राज्यों में बीती रात बिजली के ग्रिड फेल होने की खबरें हैं, जिसकी वजह से कई शहर अंधेरे में डूब गए. हालांकि, अधिकारियों ने इसे ठीक कर लेने की बात कही है.

पाकिस्तान के ऊर्जा मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा कि नेशनल इलेक्ट्रिसिटी ग्रिड के फेल होने की वजह से बिजली गुल हो गई, इसके परिणामस्वरूप बिजली व्यवस्था में खराबी देखी गई. जियो टीवी के मुताबिक मंत्रालय की घोषणा से पहले अलग-अलग बिजली वितरण कंपनियों ने बिजली गुल होने की पुष्टि की थी.

पाकिस्तान में क्वेटा इलेक्ट्रिक सप्लाई कंपनी (QESCO) ने बताया कि गुड्डू से क्वेटा जाने वाली दो ट्रांसमिशन लाइनें ट्रिप हो गईं. कंपनी ने बताया कि बिजली गुल होने की वजह से क्वेटा समेत बलूचिस्तान के 22 जिलों में अंधेरा छा गया. लाहौर और कराची के कई इलाकों में भी बिजली गुल रही. इससे लोग परेशान नजर आए.

इस्लामाबाद में 117 ग्रिड हुए फेल

बिजली गुल होने की वजह से लोगों का मोबाइल भी काम करना बंद कर दिया. दरअसल, बिजली न होने की वजह से मोबाइल टावर भी बंद हो गए थे. इसकी वजह से लोगों को एक दूसरे से फोन पर बात करने में परेशानी का सामना करना पड़ा. जानकारी के मुताबिक, इस्लामाबाद में 117 ग्रिड स्टेशन की बिजली गुल हो गई, जिसके बाद पेशावर में भी अंधेरा छाया रहा.

2021 में भी पाकिस्तान के कई शहरों मे ब्लैकआउट का सामना करना पड़ा था जब दक्षिणी पाकिस्तान के सिंध प्रांत में पावर प्लांट में एक टेक्निकल फॉल्ट हो गया था. इसका व्यापक प्रभाव पड़ा और अंततः पूरे बिजली सिस्टम को बंद कर दिया गया. एक दिन तक बिजली ठप रही थी.

देशदुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्मकर्मपाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें Social Awaj News ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए Social Awaj फेसबुकपेज लाइक करें

 

 

Share This:

Next Post

भारतीय सेना में विशेष ट्रेनिंग के साथ गरुड़ कमांडो तैयार जो आतंकियों के घर के अंदर घुसकर उनका का सफाया करेंगे

Mon Jan 23 , 2023
यह भारतीय वायुसेना का विशेष घातक दस्ता है। दुश्मनों के छक्के छुड़ाने के लिए पहली बार गरुड़ कमांडो दस्ता 2004 के फरवरी महीने में अस्तित्व में आया था। देश में जितनी भी कमांडो फोर्स हैं, उन सभी में सबसे लंबी ट्रेनिंग गरुड़ कमांडो दस्ते की होती है। […]

Read This More

error: Content is protected !!