रेल इंजन बदलने के दौरान ट्रेन से कटकर दो लोको पायलट की मौत, मचा कोहराम

झारखंड से एक बड़े हादसे की खबर सामने आई है। यहां रेल इंजन बदलने के दौरान दो लोका पायलट की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। हादसे की जानकारी सामने आते ही रेल प्रशासन में खलबली मची है। जीआरपी और रेल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

झारखंड के चक्रधरपुर रेल मंडल में रेल इंजन बदलने के दौरान ट्रेन की चपेट में आने से दो लोको पायलट की मौत हो गई। यह घटना चक्रधरपुर रेल मंडल के राजखरसवां में शुक्रवार देर रात हुई। बताया गया कि चक्रधरपुर रेल मंडल में पदास्थापित दो लोको पायलट राजखरसवां में इंजन बदल रहे थे। इसी दौरान तेज रफ्तार में आ रही मुंबई हावड़ा मेल एक्सप्रेस ट्रेन ने दोनों चालकों को अपनी चपेट में ले लिया। इससे मौके पर ही उनकी दर्दनाक मौत हो गई।

इस हादसे में जान गंवाने वाले ट्रेन चालकों की पहचान डीके सहाना और मो. अख्तर आलम के रूप में हुई है। टीके साहाना पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा जबकि मो अख्तर आलम बनपुर के रहने वाले हैं। हादसे की सूचना फैलते ही चक्रधरपुर रेल मंडल में शोक की लहर दौड़ गई। सूचना के बाद मौके पर रेलवे के वरीय अधिकारी भी पहुंचे। इसके बाद रेल पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा। हादसे की सूचना दोनों लोको पायलट के परिजनों को दे दी गई है। जिसके बाद उनके घर में कोहराम मचा है।

देर रात इंजन बदलने के दौरान हुआ हादसा

हादसे के बारे में बताया जा रहा है कि शुक्रवार की देर रात करीब 12 बजकर 18 मिनट पर दोनों लोको पायलट नीचे पटरी पर उतरकर रेल इंजन बदलने का काम कर रहे थे, तभी दूसरी रेल लाइन में तेज रफ्तार में आ रही मुंबई हावड़ा मेल एक्सप्रेस ने दोनों लोको पायलट को अपनी चपेट में ले लिया और दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

रेलवे ने हादसे पर जांच के दिए निर्देश

स्थानीय रेल कर्मी घटना के बाद दोनों लोको पायलट को चक्रधरपुर रेलवे अस्पताल ले आए जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। दोनों का शव रेलवे अस्पताल के शवगृह में रखा गया है। इधर रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हादसे की जांच के निर्देश दिए गए है। देर रात हुई इस घटना से रेलकर्मियों में दहशत का माहौल है।

इधर आज सुबह करीब 8.30 बजे शवों का पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडल अस्पताल चक्रधरपुर लाया गया। जहां पर सीनियर डीपीओ हरिताश रंजन, रेलवे अस्पताल के डॉक्टर जी सोरेन समेत लोको पायलट और अन्य कर्मी पहुंचे थे। इधर, रेलवे ने हादसे पर जांच के निर्देश दिए।

Share This:

Next Post

ओल्ड गुरुग्राम मेट्रो को जल्द मिलेगी कैबिनेट से मंजूरी, मार्च तक शुरू होगा काम

Sun Nov 20 , 2022
ओल्ड गुरुग्राम (Old Gurugram) मेट्रो योजना को जल्द ही केंद्रीय कैबिनेट से मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। केंद्रीय कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद धरातल पर काम शुरू होगा और गुड़गांव के लाखों लोगों को मेट्रो (Metro) का तोहफा मिल सकेगा। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने […]

Read This More

error: Content is protected !!