Dupe Senior Officers: साइबर ठगों के हौसले बुलंद पुलिसवालों को बनाया निशाना, कमिश्नर की वाट्स ऐप प्रोफाइल लगाई और अफसरों को भेज दिए गिफ्ट कूपन

Estimated read time 1 min read

Dupe Senior Officers: साइबर ठगों के हौसले इतने बुलंद होते जा रहे हैं कि अब उन्होंने पुलिसवालों को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है. ऐसा ही एक मामला हरियाणा के गुरुग्राम में सामने आया है. यहां पुलिस ने एक ऐसे ठग के खिलाफ केस दर्ज किया है, जो खुद को पुलिस कमिश्नर बताकर पुलिस अफसरों को ही ठगने की कोशिश कर रहा था.

साइबर ठग अब पुलिसवालों को भी अपना शिकार बनाने से बाज नहीं आ रहे हैं. हरियाणा के गुरुग्राम में ऐसा ही एक केस हुआ है. यहां ठगों ने पुलिस कमिश्नर के नाम से फर्जी वाट्स ऐप अकाउंट बनाकर कई बड़े पुलिस अधिकारियों के पास गिफ्ट कूपन खरीदने के मैसेज भेज दिए.

Dupe Senior Officers
Dupe Senior Officers

गुरुग्राम: साइबर ठगों के हौसले इतने बुलंद होते जा रहे हैं कि अब उन्होंने पुलिसवालों को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है. ऐसा ही एक मामला हरियाणा के गुरुग्राम में सामने आया है. यहां पुलिस ने एक ऐसे ठग के खिलाफ केस दर्ज किया है, जो खुद को पुलिस कमिश्नर बताकर पुलिस अफसरों को ही ठगने की कोशिश कर रहा था. पुलिसवालों को ही ठगने की कोशिश करने के मामले में केस दर्ज करने के बाद अब पुलिस छानबीन में जुट गई है.

Dupe Senior Officers: पुलिस के मुताबिक मंगलवार को गुरुग्राम पुलिस के कई अधिकारियों के मोबाइल में एक मैसेज आया. मैसेज भेजने वाले ने खुद को गुरुग्राम का पुलिस आयुक्त (Police Chief) विकास अरोड़ा बताया. उसकी वाट्सऐप प्रोफाइल पर भी पुलिस कमिश्नर विकास अरोड़ा की ही तस्वीर लगी हुई थी. ठग ने कई डिप्टी कमिश्नर और सहायक पुलिस कमिश्नरों को मैसेज भेजकर उनसे 50 हजार रुपए का गिफ्ट कूपन खरीदने और इसके बाद कूपन का कोड शेयर करने के लिए कहा.

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को जेल से फिर मिला ब्रेक, 21 दिन की फरलो हुई मंजूर, अगले हफ्ते आ सकते है बाहर

पुलिस अफसरों ने एक-दूसरे को किया सतर्क

Dupe Senior Officers: ठग ने जब पुलिस अधिकारियों से कूपन खरीदने के लिए कहा तो पुलिस अधिकारियों को उस पर शक हो गया. दरअसल, अधिकारियों के पास पहले से ही पुलिस कमिश्नर का नंबर मोबाइल में सेव था. इसलिए नए नंबर से मैसेज आने के बाद अफसरों को शक गहरा गया. संदेह होने पर सभी ने एक दूसरे को सतर्क कर दिया. जानकारी के मुताबिक सभी पुलिस अफसरों को मैसेज 23 और 24 नवंबर की शाम भेजे गए थे. इस घटना के बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. इस मामले की जांच के लिए साइबर क्राइम डिपार्टमेंट को भी कहा गया है.

गिरफ्तार होने पर निगल लिया था सिम कार्ड

Dupe Senior Officers: हाल ही में झारखंड के गिरिडीह में पुलिस ने 9 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया था. इस दौरान सबूत मिटाने के लिए एक आरोपी ने अपने मोबाइल का सिम कार्ड निगल लिया था. इसके बाद पुलिस तुरंत उसे लेकर अस्पताल गई, जहां डॉक्टरों ने ऑपरेशन करके आरोपी के पेट से सिम कार्ड बरामद कर लिया था.

FCRF की रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे

Dupe Senior Officers: आईआईटी कानपुर से जुड़े फ्यूचर क्राइम रिसर्च फाउंडेशन की एक स्टडी में बताया गया है कि राजस्थान का भरतपुर और उत्तर प्रदेश का मथुरा साइबर ठगी का बड़ा हॉटस्पॉट बन गए हैं. इनके बाद हरियाणा का नूंह और झारखंड का देवघर जिला है. पांचवें नंबर पर जामताड़ा है. इस स्टडी में साइबर क्राइम के 10 बड़े हॉटस्पॉट की लिस्ट दी गई है. इन 10 जिलों में देश के 80 फीसदी से ज्यादा साइबर क्राइम होते हैं.

इस रिपोर्ट में जिन 10 जिलों की लिस्ट दी है, उनमें राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और झारखंड के जिले हैं. इनमें भरतपुर (18%), मथुरा (12%), नूंह (11%), देवघर (10%), जामताड़ा (9.6%), गुरुग्राम (8.1%), अलवर (5.1%), बोकारो (2.4%), करमाटांड (2.4%) और गिरिडीह (2.3%) शामिल हैं

देशदुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्मकर्मपाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें Social Awaj News ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए Social Awaj फेसबुकपेज लाइक करें

 

Share This:

You May Also Like

More From Author