Turkey Earthquake: तबाही के बीच आसमानी हौसले! 1 दिन पहले ट्रांसप्लांट दूसरे दिन बचाई जिंदगियां

Estimated read time 1 min read

Turkey Earthquake Update: प्राकृतिक आपदाएं होती ही ऐसी हैं. इंसान को वक्त ही नहीं मिलता संभलने का. तुर्की में 1999 के बाद ऐसी भीषण आया है. अब तक 5000 से ज्यादा इमारतें ढह चुकी हैं. मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है.

Turkey Earthquake
Turkey Earthquake

`जैसे ही लोगों को झटका महसूस हुआ वो घरों से नीचे भागे. कुछ सेकंड का वो वक्त था. मेरे सामने इमारतें बुरी तरह हिल रहीं थीं. लोग चिल्ला रहे थे और कई लोग दौड़ते-दौड़ते गिर भी जा रहे थे. बच्चों को लेकर मां-बाप भाग रहे थे. लोग अपनी कार निकाल रहे थे ताकि जल्दी से किसी खुली जगह पहुंचकर जान बचाई जा सके.` Halis Aktemur तुर्की के दियारबाकिर शहर के निवासी हैं. उनके सामने एक बहुमंजिला इमारत ढही.` इमारत से लोग भाग ही रहे थे. कई लोग निकल चुके थे मगर कई लोग अब भी उसमें फंसे थे.

समझ नहीं आ रहा था खुद को बचाएं या किसको बचाएं

हैलिस आगे बताते हैं कि वो मंजर किसी के लिए बयां करना बेहद मुश्किल था. हाथ पैर ढीले पड़ गए थे. हर तरफ चीख पुकार मच रही थी. समझ नहीं आ रहा था खुद को बचाएं या किसको बचाएं. फिर मन ने कहा कि लोगों को बचाना चाहिए. मैं वहीं पर खड़ा रहा. मैं तीन लोगों को बचाया. लेकिन उसमें से दो लोगों की मौत हो चुकी थी. वो बहुत बुरी तरह घायल हो चुके थे. मुझे बहुत निराशा हुई मगर खुशी थी हम एक जान को बचा पाए.

मैं बिस्तर से गिरने वाला था…

भूकंप के तीसरा तेज झटका आया. इस बार तो कई सारी इमारतें ढहने लगी. पहले और दूसरे झटके के बाद जो इमारतें जर्जर हो गईं थीं वो गिर रहीं थीं. हम वहां से नहीं भागे. हम चारों ओर देख रहे थे कि कहीं कोई`उन्हें फिर से मेरी मदद की ज़रूरत होगी` सुबह का 04:17 बज रहा था. ज्यादातर लोग सो रहे थे. मैं भी सो रहा था.

अचानक मेरा बेड इस तरह हिलने लगा जैसे कोई जोर से धक्का दे रहा हो. मैं बस गिरने ही वाला था कि मेरी नींद खुल गई. दक्षिणी तुर्की के गाजियांटेप में अपने घर में सो रहे एर्डेम ( Erdem) की नींद खुल गई. वो असहज हो गया था. ऐसा लग रहा था कि ऊपर वाली छत गिरने वाली है. मैंने अपने forty साल के जीवन में कभी भी ऐसा महसूस नहीं किया था.

Turkey Earthquake
Turkey Earthquake

ड्रिप हटाई लोगों की जान बचाई

Turkey Earthquake: शहर के एक अस्पताल में गोके बे(Gökce Bay) को रविवार को किडनी ट्रांसप्लांट से उबरना था. उसके हाथों में ड्रिप चढ़ रही थी. जब उसने देखा कि भीषण भूकंप से इमारत हिल रही है. वो तुरंत बिस्तर से उठी, उसने अपने हाथों से ड्रिप खींचकर निकाल फेंकी. इसके बाद तुरंत मरीजों को अस्पताल से बाहर निकालने लगा.

बहुत से ऐसे मरीज थे जो चलफिर नहीं पा रहे थे. हॉस्पिटल स्टाफ की मदद से उन सबको बाहर निकाला गया. वो बता रही थी कि कल ही मेरी किडनी का ऑपरेशन हुआ था. अब मैं बारिश में बाहर हूं और मेरे पैर भीग रहे हैं. केवल मैं ही नहीं, कुछ बहुत पुराने मरीज बिना जैकेट या जूते के बाहर हैं.

इकट्ठा हो जाओ, एक साथ मरेंगे

Turkey Earthquake: तुर्की का एक शहर है अदाना (Adana). a hundred thirty मील (209 किमी) से अधिक पश्चिम में, निलुफ़र असलान (Nilüfer Aslan) के हाथ पैर ढीले पड़ गए थे. जब पांचवी मंजिल तेजी से हिली तो मैं हिम्मत हार गया. अब मुझे लगा कि उनका परिवार मर जाएगा. उन्होंने कहा कि मैंने अपने जीवन में ऐसा कभी नहीं देखा.

हम करीब एक मिनट तक हिलते-डुलते रहे. मैंने अपने परिवार से कहा कि बहुत भीषण भूकंप है. सब लोग एक जगह इकट्ठा हो जाओ. हम सब एक ही जगह मरेंगे. यही एक बात थी जो मेरे दिमाग में सबसे पहले आई.

एक भारी पत्थर के बीच फंसे लोगों को निकाला

Turkey Earthquake: असलान आगे बताते हैं कि जब भूकंप रुका तो मैं बाहर भाग गया. मैं अपने साथ कुछ भी नहीं ले जा सका, मैं बाहर चप्पल में खड़ा हूं. मेरे अगल-बगल की चार इमारतें ढह गईं थीं. दियारबाकिर में, three hundred मील (482 किमी) पूर्व में लोग बचाव दल की मदद के लिए सड़कों पर उतर आए.

एक 30 वर्षीय व्यक्ति ने रॉयटर्स न्यूज एजेंसी को बताया कि हर तरफ चीख-पुकार मची हुई थी. मैंने अपने हाथों से चट्टानों को खींचना शुरू किया. हमने दोस्तों के साथ घायलों को बाहर निकाला लेकिन चीखना बंद नहीं हुआ. फिर बचाव टीमें आईं.

मेरे परिवार के 7 लोग दब गए

Turkey Earthquake :मुहितिन ओराकसी ने कहा कि शहर के अन्य हिस्सों में उनके परिवार के सात सदस्य मलबे में दब गए हैं. उन्होंने एएफपी को बताया कि मेरी बहन उनके तीन बच्चे, पति और सास-ससुर सब मलबे में दब गए सभी की मौत हो गई.

सीरिया के अलेप्पो में भूकंप के केंद्र से लगभग दो घंटे की दूरी पर बड़ी संख्या में इमारतें ढह गईं. स्वास्थ्य निदेशक ज़ियाद हेग ताहा ने कहा कि आपदा के बाद घायल लोग सैलाब की तरह अस्पताल की तरफ भाग रहे हैं.

भूकंप के तेज झटकों से थर्राया ईरान, 10 लोगों की मौत, 454 घायल

सामने तबाही का मंजर..करें तो करें क्या?

Turkey Earthquake: 25 साल का ओज़गुल कोनाकची (Özgül Konakçı) तुर्की के मालट्या में रहता है. वो बताता है, ` भूकंप के बाद छोटे-छोटे झटको, बर्फबारी, बारिश ने रेस्क्यू को और कठिन बना दिया. उन्होंने बीबीसी टर्किश को बताया कि अभी बहुत ठंड है और अभी बर्फ़ पड़ रही है.

हर कोई सड़कों पर है लोग असमंजस में हैं कि क्या किया जाए. हमारी आंखों के ठीक सामने भूकंप के झटकों के कारण एक इमारत की खिड़कियां फट गईं. दूसरा भूकंप 10:24 GMT पर आया तुर्की समाचार चैनल ए हैबर के लिए एक कैमरा ऑपरेटर को मालट्या में एक ढहती इमारत से भागते देखा जा सकता था.

एक के बाद एक ढहती जा रही थी इमारतें

Turkey Earthquake: एक चश्मदीद ने बताया कि जब हम लोगों को बचाने के लिए मलबे की ओर जा रहे थे तब तेज आवाज के साथ लगातार दो झटके आए. जो इमारत मेरी बाईं ओर दिख रही थी. वो मिट्टी में मिल गई. बहुत धूल है. एक स्थानीय निवासी आ रहा है और वह धूल में ढंका हुआ है. एक मां अपने बच्चों को दूर ले जा रही है.

मालट्या की 25 वर्षीया ओजगुल कोनाकी ने अपने परिवार के साथ बाहर इंतजार करते हुए बात की.उन्होंने कहा कि कुछ लोग अपने घर वापस जाना चाहते थे क्योंकि बहुत ठंड थी लेकिन फिर हमें मजबूत आफ्टरशॉक्स महसूस हुए और वे फिर से बाहर हो गए.

देशदुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्मकर्मपाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें Social Awaj News ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए Social Awaj फेसबुकपेज लाइक करें

Share This:

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours