License Suspended: खराब गुणवत्ता की दवाएं बनाने वाली 18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस सस्पेंड

Estimated read time 1 min read

License Suspended: डॉक्टरों को ‘धरती का भगवान’ और दवाओं को ‘संजीवनी’ माना जाता है. आज के इस दौर में न तो ‘भगवान’ को अपने मरीजों की चिंता है और न ही दवाओं में ‘संजीवनी’ का गुण. यानी डॉक्टर और दवाएं दोनों दूषित हो चुके हैं.

मरीज बड़े ही विश्वास के साथ अपनी बीमारी से निजात पाने के लिए किसी दवा का सेवन करता है. लेकिन कुछ दवा कंपनियां उसके इस विश्वास में सेंध लगाकर उसे खराब गुणवत्ता की दवाएं दे रही थीं. ऐसी ही 18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए हैं.

License Suspended
License Suspended

नई दिल्ली: डॉक्टरों को ‘धरती का भगवान’ और दवाओं को ‘संजीवनी’ माना जाता है. आज के इस दौर में न तो ‘भगवान’ को अपने मरीजों की चिंता है और न ही दवाओं में ‘संजीवनी’ का गुण. यानी डॉक्टर और दवाएं दोनों दूषित हो चुके हैं. डॉक्टरों की बात किसी और आर्टिकल में करेंगे.

दवाएं, जीवनरक्षक होती हैं

License Suspended: इस खबर में हम सिर्फ दवाओं के बारे में बात करते हैं. दवाएं, जीवनरक्षक होती हैं. मरीज उन्हें इस विश्वास के साथ खाता है कि उनके सेवन से उसकी तबीयत ठीक हो जाएगी. जब वह दवा खाता है

तो उसे पूरा विश्वास होता है कि दवा कंपनी ने उसमें कोई मिलावट नहीं की होगी. लेकिन मरीज के इसी विश्वास को कुछ दवा कंपनियां चंद पैसों के लिए तोड़ देती हैं. ऐसी ही 18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस सरकार ने निलंबित कर दिए हैं.

उचित मात्रा में और सही गुणवत्ता की दवा मिल रही है या नहीं

License Suspended: दवा कंपनियों पर इस तरह की कार्रवाई बहुत ही जरूरी है.क्योंकि यह किसी व्यक्ति के जीवन और मरण का मामला है. मरीज का जीवन इस बात पर ही निर्भर करता है कि उसे सही समय पर, उचित मात्रा में और सही गुणवत्ता की दवा मिल रही है या नहीं. अगर दवा में ही खोट होगा तो फिर मरीज का बचना भी मुश्किल हो जाएगा.

डॉक्टर और दवाएं दोनों दूषित हो चुके हैं

License Suspended: मरीज बड़े ही विश्वास के साथ अपनी बीमारी से निजात पाने के लिए किसी दवा का सेवन करता है. लेकिन कुछ दवा कंपनियां उसके इस विश्वास में सेंध लगाकर उसे खराब गुणवत्ता की दवाएं दे रही थीं.

ऐसी ही 18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए हैं आज के इस दौर में न तो ‘भगवान’ को अपने मरीजों की चिंता है और न ही दवाओं में ‘संजीवनी’ का गुण. यानी डॉक्टर और दवाएं दोनों दूषित हो चुके हैं. डॉक्टरों की बात किसी और आर्टिकल में करेंगे.

18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस सरकार ने निलंबित कर दिए हैं

License Suspended: इस खबर में हम सिर्फ दवाओं के बारे में बात करते हैं. दवाएं, जीवनरक्षक होती हैं. मरीज उन्हें इस विश्वास के साथ खाता है कि उनके सेवन से उसकी तबीयत ठीक हो जाएगी.

राहुल गांधी दोषी करार मोदी सरनेम मानहानि केस में हुई 2 साल की सजा

जब वह दवा खाता है तो उसे पूरा विश्वास होता है कि दवा कंपनी ने उसमें कोई मिलावट नहीं की होगी. लेकिन मरीज के इसी विश्वास को कुछ दवा कंपनियां चंद पैसों के लिए तोड़ देती हैं. ऐसी ही 18 फार्मा कंपनियों के लाइसेंस सरकार ने निलंबित कर दिए हैं.

नकली और खराब क्वालिटी की दवाएं बनाने का आरोप

License Suspended: दवा कंपनियों पर इस तरह की कार्रवाई बहुत ही जरूरी है. क्योंकि यह किसी व्यक्ति के जीवन और मरण का मामला है. मरीज का जीवन इस बात पर ही निर्भर करता है कि उसे सही समय पर, उचित मात्रा में और सही गुणवत्ता की दवा मिल रही है या नहीं. अगर दवा में ही खोट होगा तो फिर मरीज का बचना भी मुश्किल हो जाएगा.

एक शीर्ष आधिकारिक सूत्र ने मंगलवार 28 मार्च को बताया कि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 76 कंपनियों का निरीक्षण (Examination) किया था और 18 के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए हैं. इसके अलावा 26 को दवाओं की खराब गुणवत्ता की वजह से कारण बताओ नोटिस (Show Cause Notice) दिया गया है.

तीन फार्मा कंपनियों के उत्पाद की अनुमति भी रद्द कर दी है.

License Suspended: केंद्र और राज्यों के संयुक्त अभियान में 20 राज्यों में फार्मा कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई की गई. एक सूत्र ने कहा कि ‘नॉट ऑफ स्टैंडर्ड क्वालिटी’ दवा के उत्पादन को रोकने और देशभर में दवा के अच्छे विनिर्माण अभ्यास (GMP) सुनिश्चित करने के लिए विशेष अभियान शुरू किया गया था.

सूत्र ने कहा कि डीसीजीआई की कार्रवाई पिछले 15 दिनों से आंध्र प्रदेश, बिहार, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, तेलंगाना, सिक्किम, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में की गई. सूत्र ने कहा कि देश में घटिया दवाओं के उत्पादन को रोकने के लिए विशेष अभियान जारी रहेगा.

देशदुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्मकर्मपाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें Social Awaj News ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए Social Awaj फेसबुकपेज लाइक करें

Share This:

You May Also Like

More From Author