Masjid is Like Bus Stand: मस्जिद जैसा है बस स्टैंड, गिराया नहीं गया तो चलवा दूंगा बुलडोजर’ : BJP सांसद की धमकी

Estimated read time 1 min read

Masjid is Like Bus Stand: बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा ने कहा कि मैंने इंजीनियरों से दो-तीन दिन में ऐसा करने को कहा है. अगर ऐसा नहीं हो पाया तो वो खुद जेसीबी लेकर मौके पर पहुंचेंगे और उसे ध्वस्त कर देंगे. बीजेपी सांसद के बयान पर कर्नाटक पीसीसी चीफ ने कहा अगर ऐसा है तो उन सरकारी दफ्तरों पर भी बुलडोजर चला दो जिन पर गुंबद जैसी आकृति है.

Masjid is Like Bus Stand
Masjid is Like Bus Stand

कर्नाटक के एक बीजेपी सांसद ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया है कि वह एक बस स्टैंड को बुलडोजर से चला देंगे, क्योंकि उसकी बनावट मस्जिद जैसी है. मैसूर-कोडागु लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रताप सिम्हा ने कहा कि अगर प्रशासन ने मैसूर-ऊटी रोड पर बने बस स्टैंड को नहीं ध्वस्त किया, तो वह खुद बस स्टैंड पर बुलडोजर चला देंगे.

Masjid is Like Bus Stand: बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा ने कहा कि मैंने इंजीनियरों से दो-तीन दिन में ऐसा करने को कहा है. अगर ऐसा नहीं हो पाया तो वो खुद जेसीबी लेकर मौके पर पहुंचेंगे और उसे ध्वस्त कर देंगे. बीजेपी सांसद के बयान पर कर्नाटक पीसीसी चीफ ने कहा अगर ऐसा है तो उन सरकारी दफ्तरों पर भी बुलडोजर चला दो जिन पर गुंबद जैसी आकृति है.

उन सरकारी दफ्तरों को भी गिरा देंगे, जिनमें गुंबज

Masjid is Like Bus Stand: यह बस स्टैंड मैसूर-ऊटी रोड पर स्थित है. बीजेपी सांसद सिम्हा ने कहा, “मैंने इसे सोशल मीडिया पर इसे देखा. बस स्टैंड के दो गुंबद बनाए गए हैं. बीच में एक बड़ा और उसके बगल में एक छोटा. यह केवल एक मस्जिद है और कुछ नहीं.”  इस बीच कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख सलीम अहमद ने बीजेपी सांसद के बयान पर कहा, “मैसूर के सांसद का यह मूर्खतापूर्ण बयान है. क्या वह उन सरकारी दफ्तरों को भी गिरा देंगे, जिनमें गुंबज है?”

मेघालय में बीजेपी की करारी हार की तीन बड़ी वजहें जानिए

Masjid is Like Bus Stand: बता दें कि बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा इससे पहले भी विवादास्पद बयान दे चुके हैं. हिजाब को लेकर विरोध-प्रदर्शन के बीच उन्होंने कहा था कि जो लोग हिजाब पहनना चाहते हैं वे स्कूल ना जाएं. उनको मदरसा जाना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘सब लोग अच्छी नौकरी पाने के लिए कॉलेज जाते हैं. लेकिन कुछ लोग कॉलेज केवल हिजाब दिखाने के लिए आना चाहते हैं.

अगर आप हिजाब, बुर्का, टोपी या पैजामा पहनना चाहते हैं तो स्कूल की जगह मदरसा जाएं. आपकी भावनाओं का ध्यान रखते हुए सरकार ने मदरसा चलाने के लिए भी फंड की व्यवस्था की है. आपको वहां जाना चाहिए.’

देशदुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्मकर्मपाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें Social Awaj News ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए Social Awaj फेसबुकपेज लाइक करें

follow us on google news banner black 1

You May Also Like

More From Author